साईंस कालेज के कम्प्यूटर साईंस विभाग द्वारा श्म्जीपबंस भ्ंबापदहश् विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यषाला का आयोजन

 
साईंस कालेज के कम्प्यूटर साईंस विभाग द्वारा श्म्जीपबंस भ्ंबापदहश् विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यषाला का आयोजन

शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग कम्प्यूटर साईंस विभाग द्वारा ष्एथिकल हैकिंगष् विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यषाला का आयोजन किया गया। 
कार्यक्रम के प्रथम दिवस श्री दिलीप कुमार साहू, विभागाध्यक्ष कम्प्यूटर साईंस विभाग कार्यषाला संयोजक द्वारा मुख्य वक्ता का स्वागत व परिचय दिया गया। कार्यक्रम के प्रथम दिवस के वक्ता श्री निखिल सोनी, मैनेजर व फैक्लटी ऐक्मे एकेडमी ने ष्एथिकल हैकिंगष् के बारे में बताया कैसे हैकिंग के माध्यम से किसी अन्य से संबंधित उपकरणों व विभिन्न खातों को बिना उनकी जानकारी के इंटरनेट के माध्यम से लॉगिन कर डाटा प्राप्त कर सकते है। विभिन्न प्रकार के हैकर के बारे में भी बताया जिनमें से एथिकल हैकर एक सर्टिफाईड हैकर होते है तथा विभिन्न क्षेत्रों में जैसे बैकिंग, रक्षा एवं आईटी इंडस्ट्रीज में अपनी सेवा प्रदान करते है। वक्ता ने हैकिंग केे दुरूप्रयोग से होने वाले दुष्परिणाम व दण्ड के प्रावधान को भी विस्तार से बताया। कार्यषाला के द्वितीय दिन वक्ता श्री सुमंत सिंग सिनीयर सॉप्टवेयर इंजीनियर ऐमिकस टेक्नोलॉजी, रायपुर में अपने अनुभवों को साझा करते हुए सॉपटवेयर के क्षेत्र में अवसरों व चुनौतियों के बारे में जानकारी प्रदान की व छात्रों के प्रष्नों का उत्तर दिया। 
इसी क्रम में वक्ता श्री कार्तिकेय पाण्डेय डायरेक्टर, एक्मे एकेडमी, रायपुर ने कम्प्यूटर साइंस के क्षेत्र में विभिन्न अवसरों एवं इनकी तैयारी के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की। 
इसके पश्चात् कार्यषाला के मुख्य वक्ता श्री निखिल सोनी ने हैकिंग की प्रायोगिक जानकारी प्रदान की व छात्रों को विभिन्न वेबसाइट व टूल्स के माध्यम से एथिकल हैकिंग का प्रायोगिक उपयोग सिखाया तथा इनसे संबंधित जटिलताओं को भी समझाया एवं इससे एक बेहतर रोजगार के अवसर के बारे में बताया। छात्रों बहुत अधिक संख्या में इस कार्यषाला में ऑनलाइन एवं ऑफलाइन माध्यम से  प्रोग्राम से जुडे़े। 
अंत में श्रीमती लतिका ताम्रकार, सचिव आयोजन समिति ने सभी वक्ताओं का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में विभाग के अतिथि व्याख्याता श्री समीर कुमार, श्री ओम प्रकाष, श्रीमती अर्चना पात्रा, सुश्री दिव्या जासलवाल एवं सुश्री षिल्पा चंद्राकर ने सहयोग प्रदान किया। कार्यक्रम का संचालन श्री अबीर एवं कु. अभिन्या ने किया। श्री प्रकाष यादव ने कार्यक्रम की व्यवस्था में सहयोग प्रदान किया। 
कार्यक्रम में डॉ. आर.एस.सिंग, डॉ. कल्पना अग्रवाल, डॉ. राकेष तिवारी, डॉ. ज्योति धारकर, डॉ. स्वागोता बेरा, श्री नीरज यादव उपस्थित थे।